test
32 C
Ahmedabad
Sunday, July 14, 2024

‘NTA खत्म होना चाहिए, ये नेशनल टॉर्चर एजेंसी है’, तेजस्वी यादव के PS प्रीतम के समर्थन में उतरी RJD


पटना : नीट पेपर लीक केस में तेजस्वी यादव के सरकारी पीएस प्रीतम कुमार पर लगाए गए सभी आरोपों को आरजेडी ने खारिज कर दिया. मनोज झा ने इस मामले में कहा कि पूरी तरह से गेस्ट हाउस वाली कहानी झूठ और पाखंड के लिए रची गई. उन्होंने इसका भी खंडन किया कि सिकंदर यदुवेन्दु और प्रीतम कुमार रिश्तेदार हैं.

Advertisement

तेजस्वी के पीएस का आरजेडी ने किया बचाव : राजद के राज्यसभा सांसद मनोज झा ने नीट प्रश्न पत्र लीक मामले में तेजस्वी यादव के सरकारी PS प्रीतम कुमार का बचाव किया है. मनोज झा ने कहा कि नीट परीक्षा धांधली मामले में NHAI के गेस्ट हाउस मे मास्टरमाइंड सिकंदर यदुवेन्दु के रिश्तेदार के ठहरने के मामले में उपमुख्यमंत्री विजय सिन्हा के आरोप पर राष्ट्रीय जनता दल के राज्यसभा सांसद मनोज झा ने कहा है कि पूरी तरह से यह बयान झूठ है.
”लेटर लिख कर रूम का रिजर्वेशन कराया गया था. मीडिया के लोग भी कई बार मंत्री के पीएस को कह देते हैं कि गेस्ट हाउस में एक रूम बोल दीजिए. गेस्ट हाउस की बात उठाकर बड़े लोगों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है.”- मनोज झा, राज्यसभा सांसद, आरजेडी

Advertisement

सरकार पर निशाना : मनोज झा ने कहा कि ”बिहार में सरकार नाम की कोई चीज नहीं है. जिनको जहां हो रहा है वह उस मुद्दे पर अपनी बात बोल रहा है. तत्काल शिक्षा मंत्री धर्मेंन्द्र प्रधान को इस्तीफा देना चाहिए. 25 लाख विद्यार्थी के गुनहगार हैं देश के प्रधानमंत्री और शिक्षा मंत्री. हमारी मांग है कि तत्काल परीक्षा रद्द हो.”
‘जिस पत्र का जिक्र वह लेटर कहां’ : सिकंदर यदुवेन्दु को लेकर एक बड़ा खुलासा मनोज झा ने करते हुए कहा कि जल संसाधन विभाग के मंत्री संजय झा के रहते हुए उन्हें दानापुर भेजा गया और तारकिशोर प्रसाद जो नगर विकास विभाग के मंत्री थे उनके रहते हुए उनको वहां का दो स्थानों का प्रभार भी दिया गया. यह क्या बोलेंगे? उन्होंने उपमुख्यमंत्री विजय सिन्हा के उसे बयान पर भी कहा कि विजय सिन्हा ने जिस पत्र का जिक्र किया है वह पत्र लाकर के दें.
अब तक क्या हुआ: नीट पेपर लीक केस में EOU के एडीजी नैय्यर हसनैन खान को दिल्ली बुलाया गया है. इस मामले में गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ में कबूलनामे के बाद जांच ने रफ्तार पकड़ी है. आरोपियों ने बताया कि किस तरह उन्हें पेपर मिला और कैसे उन्हें उसे रटवाया गया. पेपर वही आए थे जो उन्हें रटवाए गए थे. इस मामले में पूछताछ के आधार पर कुल 14 आरोपी पकड़े जा चुके हैं. इसमें 5 नीट यूजी के अभ्यर्थी हैं.

Advertisement
Advertisement

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -
- Advertisement -

વિડીયો

- Advertisement -
error: Content is protected !!