asd
28 C
Ahmedabad
Wednesday, July 17, 2024

कुवैत : इमारत में भीषण आग लगने से 41 की मौत, कई भारतीय शामिल, पीएम मोदी ने दुख जताया


 

Advertisement

खाड़ी देश कुवैत के मनकफ शहर में बुधवार सुबह एक इमारत में आग लग गई, जिसमें 41 लोगों की मौत हो गई. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मृतकों में कई भारतीय भी शामिल हैं. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मृतकों में सभी मजदूर हैं. क्योंकि जिसमें इमारत में आग लगी, उसमें श्रमिक रहते थे. मेजर जनरल ईद रशीद हमद ने कहा कि स्थानीय समयानुसार सुबह 6 बजे इमारत में आग लगने की सूचना मिली थी.अधिकारियों ने कहा कि आग पर काबू पा लिया गया है और इसके कारणों की जांच की जा रही है. कुवैती स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि आग लगने की घटना के बाद करीब 43 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया और उनमें से चार लोगों की मौत हो गई.

Advertisement

वरिष्ठ पुलिस कमांडर ने सरकारी टीवी चैनल से बात करते हुए कहा कि इमारत में श्रमिकों के रहने की व्यवस्था थी, और वहां बड़ी संख्या में श्रमिक थे. दर्जनों लोगों को बचा लिया गया, लेकिन दुर्भाग्य से आग लगने के बाद इमारत में फैले धुएं के कारण कई लोगों की मौत हो गई. फिलहाल अधिकारियों ने मृतक श्रमिकों के रोजगार या उनकी पहचान के बारे में जानकारी नहीं दी है.

Advertisement

पीएम मोदी ने घटना को दुखद बताया

Advertisement

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक्स पर लिखा कि कुवैत के शहर में आग लगने की घटना दुखद है. मेरी संवेदनाएं उन सभी लोगों के साथ हैं जिन्होंने अपने प्रियजनों को खो दिया है. मैं घायलों के जल्द से जल्द स्वस्थ्य होने की प्रार्थना करता हूं. पीएम मोदी ने कहा कि कुवैत में भारतीय दूतावास स्थिति पर बारीकी से नजर रख रहा है और पीड़ितों की सहायता के लिए स्थानीय अधिकारियों के साथ मिलकर काम कर रहा है.

Advertisement

विदेश मंत्री जयशंकर ने घटना पर दुख जताया…

Advertisement

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने एक्स पर एक पोस्ट में लिखा, कुवैत के शहर में आग लगने की घटना से बहुत दुख हुआ. जिसमें 40 से ज्यादा लोगों की मौत होने की खबर है और 50 से ज्यादा लोग अस्पताल में भर्ती हैं. हमारे राजदूत शिविर में गए हैं. हम आगे की जानकारी का इंतजार कर रहे हैं. उन्होंने आगे कहा कि वह इस दुखद घटना में जान गंवाने वालों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं. जयशंकर ने कहा कि भारतीय दूतावास घटना से प्रभावित सभी लोगों को पूरी सहायता प्रदान करेगा.
अधिकारियों को संदेह है कि फायर सेफ्टी कोड के उल्लंघन के कारण यह घटना हुई. स्थानीय मीडिया ने बताया कि कुवैत के गृह मंत्री शेख फहद अल-यूसुफ अल-सबाह ने अग्निकांड के बाद घटनास्थल का दौरा किया और इमारत के मालिक को गिरफ्तार करने का आदेश दिया.
कुवैत में बड़ी संख्या में प्रवासी श्रमिक रहते हैं. इनकी संख्या स्थानीय आबादी से ज्यादा है. कुवैत की कुल आबादी लगभग 42 लाख है. यह अमेरिका के न्यू जर्सी राज्य से छोटा है, लेकिन दुनिया का छठा सबसे बड़ा तेल भंडार वाला देश है. 2022 में यहां एक तेल रिफाइनरी में आग लगने से चार लोगों की मौत हुई थी.

Advertisement
Advertisement

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -
- Advertisement -

વિડીયો

- Advertisement -
error: Content is protected !!