test
32 C
Ahmedabad
Sunday, July 14, 2024

Karnataka: यौन शोषण मामले में CID ने पूर्व सीएम के खिलाफ दायर किया आरोप पत्र, येदियुरप्पा ने पीड़िता को चुप रहने के लिए दी थी रिश्वत


कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के खिलाफ नाबालिग लड़की से यौन शोषण के मामले में अपराध जांच शाखा (सीआईडी) उनके खिलाफ दायर आरोप पत्र में कहा है कि पूर्व सीएम ने अपने तीन सहयोगियों के साथ मिलकर पीड़िता और उसकी मां को चुप रहने के लिए मोटी रकम दी है। येदियुरप्पा और उनके के तीन सहयोगियों पर भी सुबूत नष्ट करने और रिश्वत देने के आरोप दर्ज किए गए हैं।

Advertisement

येदियुरप्पा के खिलाफ आरोपपत्र दायर

Advertisement

शुक्रवार को सीआईडी के दायर किए आरोप पत्र में बताया गया कि 81 वर्षीय येदियुरप्पा के खिलाफ पोक्सो की धारा 8 व आईपीसी की धारा 354ए, 204, 214 और उनके सहयोगियों अरुण वाइएम और रुद्रेश एम. के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 204, 214 के तहत मामले दर्ज किए गए हैं। इस वर्ष दो फरवरी को सुबह 11.15 बजे 17 वर्षीय नाबालिग और उसकी मां डॉलर कॉलोनी स्थित येदियुरप्पा के आवास पहुंचे थे। वहां उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री से पूर्व में एक यौन शोषण के मामले में न्याय की मांग की।पूर्व सीएम पीड़िता को एक अलग कमरे में ले गए और दरवाजे को अंदर से बंद कर दिया। इसके बाद उन्होंने पीड़िता से पूछा कि क्या यौन शोषण करने वालों के चेहरे याद हैं? पीड़िता ने दो बार येदियुरप्पा के सवाल का जवाब दिया। सीआईडी का आरोप है कि इस दौरान येदियुरप्पा ने पीड़िता के यौन शोषण की कोशिश की।

Advertisement

पीड़िता और उसकी मां ने लगाए गंभीर आरोप

Advertisement

आरोप पत्र के अनुसार डरी हुई पीड़िता ने येदियुरप्पा से हाथ छुड़ाया और दरवाजा खोलने को कहा। इसके बाद येदियुरप्पा ने दरवाजा खोला और अपनी जेब से कुछ रुपये निकालकर पीड़िता के हाथ में रखे और कहा कि वे इस मामले में मदद नहीं कर सकते। उन्होंने अपनी जेब से कुछ और नोट निकाले और पीड़िता की मां के हाथ में रख दिए। 20 फरवरी को पीड़िता की मां ने इस घटना से जुड़ा एक वीडियो अपने फेसबुक पेज पर डाला। इसके बाद मामले से जुड़े अन्य आरोपित अरुण वाइएम, रुद्रेश एम. और जी. मरीस्वामी पीड़िता के आवास पर पहुंचे और उन्हें येदियुरप्पा के घर ले आए।

Advertisement

अरुण ने पीड़िता की मां से फेसबुक और फोन से वीडियो हटाने को कहा। येदियुरप्पा के निर्देशों पर रुद्रेश ने पीड़िता को दो लाख रुपये नकद दिए। अब पीड़िता के भाई और याचिकाकर्ता ने अदालत में न्याय की मांग की है। याचिकाकर्ता ने अदालत से अनुरोध किया कि इस मामले में येदियुरप्पा को गिरफ्तार किया जाए। उधर, येदियुरप्पा ने भी अपने खिलाफ लगे आरोपों को खारिज करते हुए अदालत में याचिका दायर की है।

Advertisement
Advertisement

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -
- Advertisement -

વિડીયો

- Advertisement -
error: Content is protected !!