test
35 C
Ahmedabad
Sunday, July 14, 2024

यूपी में बाढ़-बारिश से कहर: श्रावस्ती में दो डूबे, 25 गांव जलमग्न, पीलीभीत में रेलवे ट्रैक बहा, खतरे के निशान पर नदियां


लखनऊः यूपी में भारी बारिश जा रही है. मौसम विभाग के अनुसार आने वाले चार दिनों तक अभी फिलहाल ऐसी ही बारिश जारी रहेगी. उधर, अत्याधिक बारिश के चलते कई नदियां खतरे के निशान के ऊपर चली गईं. इससे कुशीनगर, बिजनौर समेत कई जिलों के गांव बाढ़ की चपेट में आ गए. बाढ़ में काफी फसलें डूब गईं. ग्रामीण घरों से पलायन कर रहे हैं. वहीं प्रशासन की ओर से ग्रामीणों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया जा रहा है. वहीं, पीलीभीत में बाढ़ के कारण रेलवे ट्रैक ह बह गया.

Advertisement

बता दें कि 7 जुलाई को उत्तर प्रदेश में अनुमानित बारिश 8.2 के सापेक्ष 38.4 मिलीमीटर रिकॉर्ड की गई जो की सामान्य से 369 प्रतिशत अधिक है. वहीं 1 जून से 7 जुलाई तक अनुमान बारिश 142.7 मिली मीटर के सापेक्ष 193. 8 मिलीमीटर रिकॉर्ड की गई जो की 36% अधिक है.

Advertisement

7 जुलाई को पूर्वी उत्तर प्रदेश में अनुमान बारिश 9 मिलीमीटर के सापेक्ष 47.5 मिलीमीटर रिकॉर्ड की गई जो की सामान्य से 427 प्रतिशत अधिक है. वहीं पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अनुमान बारिश 7.2 मिली मीटर के सापेक्ष 25.6 मिली मीटर रिकॉर्ड की गई जो की सामान्य से 256 प्रतिशत अधिक है.

Advertisement

आज इन इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी

Advertisement

बिजनौर, मुरादाबाद, रामपुर शामली में भारी बारिश हो सकती है। वही संभल, बरेली, पीलीभीत, शाहजहांपुर, एटा, हाथरस, आगरा, फिरोजाबाद, इटावा, औरैया, कन्नौज हरदोई कानपुर देहात, जालौन झांसी, महोबा, हमीरपुर, बांदा, फतेहपुर, कानपुर नगर उन्नाव, लखनऊ, बाराबंकी, रायबरेली ,प्रतापगढ़, कौशांबी, चित्रकूट, सुल्तानपुर, अयोध्या, गोंडा, बस्ती अंबेडकर नगर आजमगढ़, मऊ, बलिया, देवरिया कुशीनगर महाराजगंज गोरखपुर, संत कबीर नगर, सिद्धार्थ नगर, बलरामपुर, श्रावस्ती, बहराइच, लखीमपुर खीरी में हल्की बारिश होने की संभावना है.

Advertisement

बीते 24 घंटे में इन जिलों में हुई भारी बारिश (मिमी.)

Advertisement

अंबेडकर नगर 27, अमेठी 23, अयोध्या 85,बहराइच 97, बलिया 61, बलरामपुर 109, बाराबंकी 31, बस्ती 201, चंदौली 31, देवरिया 26, फर्रुखाबाद 67, फतेहपुर 20, गोंडा 145, गोरखपुर 99, हरदोई 42, कन्नौज 27, कानपुर नगर 31, लखीमपुर खीरी 132, लखनऊ 58, महाराजगंज 56, मऊ 22, प्रतापगढ़ 26, संत कबीर नगर 55, ,श्रावस्ती 119, सिद्धार्थ नगर 64, सीतापुर 73 सुल्तानपुर 29, उन्नाव 26, वाराणसी 31, अमरोहा 32, बदायूं 56, बरेली 78, एटा 31, फिरोजाबाद 28, कासगंज 53, मैनपुरी 28, मेरठ 44, मुरादाबाद 57, रामपुर 36 सहारनपुर 60 मिली मीटर रिकॉर्ड की गई. मौसम वैज्ञानिक डॉक्टर अतुल सिंह ने बताया कि सोमवार को उत्तर प्रदेश के पूर्वी तथा पश्चिमी दोनों इलाकों में गरज चमक के साथ कही भारी तो कहीं मध्यम बारिश हो सकती है.

Advertisement

पीलीभीत में पुलिया बहने से रोका ट्रेन संचालन

Advertisement

पीलीभीत मैलानी जंक्शन रेलवे रूट पर शाहगढ स्टेशन व संडई हाल्ट के बीच सकरिया नाले के तेज बहाव के कारण एक पुलिया बीती रात पानी के तेज बहाव से बह गई. यह पुलिया रेलवे पोल संख्या 241/2 व 241/3 के बीच बताई गई है. पुलिया बहने से घटिया निर्माण की भी पोल खुल गई है, इसके चलते इस रूट की सभी ट्रेनों का संचालन रेलवे प्रशासन ने फिलहाल बंद कर दिया है. नई ट्रेनों के संचालन में भी बाधा पैदा हो गई है. पुलिया के निर्माण में काफी समय लगेगा. खटीमा पुल पर पानी बढ़ने से टनकपुर पीलीभीत रूट की ट्रेनें बंदइज्जत नगर मंडल की डीआरएम रेखा यादव ने बताया कि ट्रेन संचालन फिलहाल रुकवा दिया गया है. उन्होंने बताया कि खटीमा पुल पर पानी खतरे के निशान से अधिक होने के कारण पीलीभीत टनकपुर रूट पर भी ट्रेन संचालन बंद किया गया है.

Advertisement

बरेली में गौला बैराज से छोड़ा 16507 क्यूसेक पानी

Advertisement

बरेली में नदी का जलस्तर लगातार बढ़ने पर गौला बैराज से 16507 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है, मीरगंज इलाके तक लोगों को सतर्क रहने के निर्देश दिए गए है. कालागढ़ डैम से निकलने वाली जिले की सबसे बड़ी नदी रामगंगा में किच्छा, बहगुल और कोसी नदी मिलने के कारण बारिश में हर साल रामगंगा में उफान आता है और इसकी बाढ़ से आसपास बसे बहेड़ी मीरगंज के तीन सौ से ज्यादा गांव प्रभावित होते हैं पहाड़ों पर कई दिनों से मूसलाधार बारिश हो रही है जिससे पहाड़ों से निकली नदियां उफान पर पर है. किच्छा बैराज में पानी बढ़ने पर रविवार को नदी में पानी छोड़ा गया है. किच्छा नदी एवं पश्चिमी बहगुल नदी में पानी बढ़ने पर प्रशासन ने बाढ़ चौकियों को अलर्ट किया है. नदियों के किनारे रहने वाले ग्रामीणों को अलर्ट कर दिया गया है. तहसीलदार विशाल कुमार शर्मा ने भोलापुर शंखापुर जाकर निरीक्षण किया.

Advertisement

बुलंदशहर में डीएम ने किया गंगा घाट का निरीक्षण

Advertisement

बुलंदशहर में डीएम चंद्रप्रकाश सिंह ने लगातार पानी के बढ़ते जलस्तर के मद्देनजर गंगा घाट का निरीक्षण किया. बता दें कि बिजनौर बैराज से 1.40 लाख क्यूसेक पानी गंगा में छोड़ा गया है जिससे आगामी दिनों का गंगा जलस्तर बढ़ेगा. प्रशासन ने बाढ़ संभावित गांवों में बाढ़ चौकियां सक्रिय करने के साथ ही अन्य तैयारी को तेजी से पूरा करना शुरु कर दिया है.

Advertisement

महाराजगंज में ट्रैक्टर और ट्राली से निरीक्षण करने पहुंचे डीएम

Advertisement

महाराजगंज में डीएम अनुनय झा व पुलिस अधीक्षक सोमेंद्र मीना ने निचलौल क्षेत्र में झुलनीपुर बैराज और सोहगीबरवा क्षेत्र का निरीक्षण किया. डीएम एसपी ट्रैक्टर ट्राली से गांव सोहगीबरवा पहुंचे. दोनों अफसरों ने नदी के जलस्तर की जांच की. अधिशासी अभियंता सिंचाई द्वितीय ने बताया कि नेपाल की ओर से 04 लाख 41 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है. निरीक्षण के दौरान नदी में 3.88 लाख क्यूसेक रिकार्ड किया गया था. नारायणी में जलस्तर बढ़ने पर अतिरिक्त जल सोहगीबरवा क्षेत्र में आने लगता है जिससे क्षेत्र में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो जाती है. फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है.

Advertisement

बलरामपुर में 40 से ज्यादा गांव बाढ़ की चपेट में

Advertisement

बलरामपुर में 40 से ज्यादा गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं. यहां राप्ती नदी खतरे के निशान को पार कर गई है. जिला प्रशासन ने बाढ़ के खतरे को देखते हुए बाढ़ चौकियों को अलर्ट कर दिया है. हरिहरगंज ललिया , मार्ग पर लोकहवा गांव के पास तीन फीट ऊंचाई तक बाढ़ का पानी भर गया है. जिलाधिकारी पवन अग्रवाल ने बताया की तुलसीपुर तहसील के 25 गांव बाढ़ से प्रभावित हुए है जबकि बलरामपुर तहसील के 16 गांव आंशिक रूप से प्रभावित हुए हैं. उन्होंने बताया की बाढ़ के खतरे को देखते हुए एक एसडीआरएफ की टीम बुला ली गई है तथा एक फ्लाड पीएसी की टीम तैनात कर दी गई है.

Advertisement
Advertisement

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -
- Advertisement -

વિડીયો

- Advertisement -
error: Content is protected !!