33 C
Ahmedabad
Tuesday, May 28, 2024

पाकिस्तानी संगठन से जुड़ा एजेंट मुजफ्फरपुर में गिरफ्तार, सूरत पुलिस ने दबोचा, नूपुर शर्मा को दी थी हत्या की धमकी


मुजफ्फरपुर

Advertisement

पाकिस्तानी संगठन से जुड़े एजेंट को पकड़ा गया है. उसे बिहार के मुजफ्फरपुर स्थित सकरा चकबदुल्ला पहाड़पुर से गिरफ्तार किया गया है. उसके पीछे गुजरात की सूरत पुलिस लगी हुई थी. इसी दौरान वह पकड़ा गया. वह अपने नानी के घर पहुंचा था. गिरफ्तार आरोपी का नाम मो. शहनवाज अली है. उसे सूरत के स्पेशल ब्रांच की टीम ने मुजफ्फरपुर से पकड़ा है.

Advertisement

नूपुर शर्मा, उमेश्वर राणा को दी थी धमकी

Advertisement

बताया गया है कि, अली ने भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा व उमेश्वर राणा को हत्या की धमकी थी. मोहम्मद अली लगातार पाकिस्तानी संगठनों के संपर्क में था. उसके खिलाफ सूरत में मामला दर्ज है. गिरफ्तारी के बाद उसे सकरा पीएचसी में ले जाया गया. वहां से सकरा पुलिस की मदद से मुजफ्फरपुर कोर्ट लाया गया. जहां से टीम उसे ट्रांजिट रिमांड पर अपने साथ लेकर जायेगी. पुलिस की विशेष टीम कागजी कार्रवाई में जुटी हुई है.

Advertisement

ऑनलाइन नेताओं को देता था धमकी

Advertisement

पुलिस सूत्रों के अनुसार, अली ऑनलाइन कई ऐसे प्लेटफार्म से जुड़ा है, जहां लोग वीडियो कॉल करके धमकियां देते हैं. अली ऑनलाइन नेताओं को धमकी देने का काम करता है. इसके अलावा जिस नेता को हत्या की धमकी देने होती है, वह उसके नंबर को एक खास ग्रुप में जोड़कर ग्रुप वीडियो कॉल करता था. उसके बाद वीडियो कॉल कर धमकी देता था.

Advertisement

पाकिस्तान के कट्टरपंथी सदस्यों से था संपर्क

Advertisement

दलमिली जानकारी के अनुसार, मोहम्मद अली पर कई हिंदू नेताओं को जान से मारने की धमकी और साजिश रचने का आरोप है. इसका नेटवर्क गुजरात के सूरत में रहने वाले एक मौलाना और पाकिस्तान के कट्टरपंथी सदस्यों से लगातार चल रहा था. पुलिस ने सबसे पहले इसके मोबाइल को जब्त कर जांच किया, जिससे पता चला कि वो सूरत व पाकिस्तान के सदस्यों से लगातार अलग-अलग वाट्सएप चैटिंग और अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से कनेक्ट रहता था.
मोबाइल से खुलेगा राज

Advertisement

पुलिस सूत्रों के अनुसार अली के पास से एक मोबाइल मिला है. जिसे गुजरात पुलिस ने जब्त किया है. उस मोबाइल से कई राज सामने आएंगे. बताया जा रहा है कि उसमें कई आपत्तिजनक तस्वीरें भी मिली हैं. साथ ही, कई पाकिस्तानी ग्रुप से अली के जुड़े होने का सबूत भी मिले हैं. कई तरह के चैट भी मिले है. पुलिस मोबाइल के सहारे अली से जुड़े अन्य लोगों को ढूंढने की कोशिश कर रही है.

Advertisement

नेपाल में छिपकर रहता था

Advertisement

बताया जाता है कि अली नेपाल में रह रहा था. वह वहा अपना पहचान छिपाए हुआ था. उपदेश राणा की हत्या की साजिश में मौलाना सोहैल अबुबक्र तिमोल की गिरफ्तारी के बाद यह मामला खुला. सोहैल का संबंध पाकिस्तानी आतंकी संगठन से जुड़ने के बाद गुजरात पुलिस ने इसकी और कड़ियों को जोड़ा. उसने ही शहनाज उर्फ अली को पाकिस्तानी संगठन के साथ जोड़ा था. गिरफ्तार युवक नेपाल में शहनाज के नाम से जाना जाता है.

Advertisement

23 साल से नेपाल में रह रहा था

Advertisement

पुलिस के अनुसार, अली मूल रूप से बिहार का ही रहने वाला है, लेकिन उसका जन्म नेपाल में हुआ था. वह बिहार आता जाता रहता था. पिछले 23 साल से वह नेपाल में ही रहता था. वहीं से वह ऑनलाइन पाकिस्तान के ग्रुप से जुड़ा हुआ था. उसके खिलाफ गुजरात के सूरत में मामला दर्ज हुआ था. जिसके बाद सूरत की स्पेशल टीम उसके पीछे लगी हुई थी.

Advertisement
Advertisement

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -
- Advertisement -

વિડીયો

- Advertisement -
error: Content is protected !!