test
33 C
Ahmedabad
Saturday, June 15, 2024

गुजरात : भारत में स्लीपर सेल बना रहा था पाकिस्तान में बैठा डोगर, सूरत पुलिस ने किए चौंकाने वाले खुलासे


सूरत

Advertisement

पाकिस्तान में बैठकर डोगर ने भारत में हिंदू नेताओं को मारने के लिए स्लीपर सेल सक्रिय किया. इस मामले में अब तक तीन लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. जिसमें सूरत से गिरफ्तार किए गए मौलवी सोहेल अबू-बकर के पास से दो मतदाता पहचान-पत्र मिले हैं और बिहार से गिरफ्तार किए गए मोहम्मद रजा के पास नेपाली नागरिकता है.

Advertisement

आरोपियों को पाकिस्तान से भेजे गए थे पैसे

Advertisement

उत्तर प्रदेश एटीएस ने इस मामले में जिस आरोपी को गिरफ्तार किया है उसका कनेक्शन पाकिस्तान के डोगर से भी है. इसलिए सूरत पुलिस यूपी एटीएस के साथ मिलकर जांच करेगी. वह पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में बैठकर हिंदू नेताओं को मारने के लिए भारत के युवाओं को स्लीपर सेल के रूप में इस्तेमाल कर रहा था. हिंदू नेता उपदेश राणा को जान से मारने की धमकी के मामले में सूरत क्राइम ब्रांच ने मौलवी सोहेल को सूरत जिले के कामरेज इलाके से गिरफ्तार किया था.

Advertisement

मौलवी सोहेल से पूछताछ में कई खुलासे

Advertisement

मौलवी सुलेह की गिरफ्तारी के बाद कई खुलासे हुए हैं. मौलवी के साथ दो अन्य लोगों को बिहार से मोहम्मद रजा और महाराष्ट्र से शकील को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस जांच से पता चला है कि मौलवी के पास अलग-अलग EPIC नंबरों वाले आईडी कार्ड हैं. साथ ही मौलवी के दो जन्म प्रमाण पत्र हैं, जिनमें से एक सूरत का और एक महाराष्ट्र का है. इतना ही नहीं, बिहार से गिरफ्तार किया गया आरोपी मोहम्मद रजा नेपाल का नागरिक है, लेकिन उसके पास भारत का आधार कार्ड भी है. इस पूरे मामले की जांच फिलहाल सूरत क्राइम ब्रांच कर रही है.
17 वर्चुअल नंबर मिले
क्राइम ब्रांच की जांच में पता चला कि पाकिस्तान स्थित डोगर भारत में अपने स्लीपर सेल को वर्चुअल नंबर दे रहा था, जिसमें मौलाना मोहम्मद रजाक और सोहेल भी शामिल हैं. इन लोगों के पास से 17 वर्चुअल और 42 ईमेल एड्रेस मिले हैं. ये लोग इस वर्चुअल नंबर से ग्रुप कॉल कर हिंदू नेताओं को धमकी दे रहे थे. जिसमें नूपुर शर्मा भी शामिल हैं. राम मंदिर के लिए यात्रा पर निकलीं शबनम शेख, सुरेश राजपूत, उपदेश राणा, निशांत शर्मा, कुलदीप सोनी समेत कई लोग शामिल हैं. इतना ही नहीं आरोपियों को हिंदू नेताओं की हत्या के लिए पाकिस्तान से हथियार भेजना था और इसके लिए इसके लिए पाकिस्तान से एक करोड़ रुपये भी भेजे गए.

Advertisement

इस पूरे मामले में सूरत पुलिस कमिश्नर अनुपम सिंह गहलोत ने कहा कि जांच में पता चला है कि पाकिस्तान में बैठा डोगर इन लोगों को ऑपरेट कर रहा था. जब ग्रुप कॉल की गई तो एक ने वहां 47 नंबर के साथ अपनी तस्वीर भी डाल दी. वह आरोपियों को वर्चुअल नंबर भेजता था और हवाला के जरिए भी आरोपियों को पैसे भेजे गए हैं जिसकी जांच क्राइम ब्रांच कर रही है.

Advertisement

उन्होंने कहा कि पुलिस यह भी जांच करेगी कि मौलवी सोहेल ने दो वोटर आईडी कार्ड कैसे बनाए और एक अन्य आरोपी मोहम्मद रजा ने नेपाली नागरिकता होने के बावजूद भारत में आधार कार्ड कैसे बनाया. आरोपी मोहम्मद रजा नेपाल में एक कपड़े की दुकान में काम करता है. जब वह भारत आया तो उसे बिहार के मुजफ्फरपुर से गिरफ्तार कर लिया गया.

Advertisement

आरोपियों को फंडिंग की जांच की जाएगी

Advertisement

पुलिस कमिश्नर गहलोत ने कहा कि जिया-उल-हक नाम के आरोपी को यूपीएटीएस ने गिरफ्तार कर लिया है, जिसका आईएसआई से सीधा संपर्क है. बताया गया है कि उसे पाकिस्तान स्थित डोगर द्वारा भी फंडिंग की जा रही थी. इसलिए यूपी एटीएस इस बात की भी जांच करेगी कि दोनों मामलों में फंडिंग करने वाला एक ही व्यक्ति है या नहीं, क्योंकि दोनों ही मामलों में फंडिंग के लिए एक ही शख्स का नाम आ रहा है जो पाकिस्तान में है. सूरत के आरोपियों पर हवाला के जरिए फंडिंग करने का भी आरोप लगा है, जिसकी जांच पुलिस करेगी. साथ ही पंजाब और अन्य राज्य से भी मदद मांगी जाएगी कि उनकी संलिप्तता अन्य मामलों में है या नहीं. हाल ही में डोगर की एक तस्वीर भी सामने आई है जिसमें वह हाथ में AK-47 लिए खड़ा है.

Advertisement

पाकिस्तानी यूट्यूबर के जरिये सक्रिय था स्लीपर सेल
वहीं, पुलिस कमिश्नर ने बताया कि डोगर भारत में आतंकवाद में विश्वास रखने वाले युवाओं के बीच अपना स्लीपर सेल बनाता था. ये आरोपी भारत विरोधी विचारधारा रखने वाले और वीडियो बनाने वाले पाकिस्तानी यूट्यूबर जेशबाबा को फॉलो कर रहे थे. पाकिस्तानी डोगर ऐसे फॉलोअर्स से संपर्क करता था जो लाइक और कमेंट करते थे और फिर उन्हें हिंदू नेताओं को निशाना बनाने के लिए स्लीपर सेल के रूप में इस्तेमाल करता था.

Advertisement
Advertisement

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -
- Advertisement -

વિડીયો

- Advertisement -
error: Content is protected !!