33 C
Ahmedabad
Tuesday, May 28, 2024

मुजफ्फरपुर में एके-47 के साथ तीन गिरफ्तार, 7 लाख की हुई थी डील, दूसरे राज्यों से लाकर यहां करते थे असेंबल


मुजफ्फरपुर

Advertisement

बिहार एसटीएफ और मुजफ्फरपुर पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. संयुक्त टीम ने मिलकर दो ममेरे भाई समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. इनके पास से एके-47 ऑटोमैटिक हथियार, पांच कारतूस और तीन मोबाइल बरामद किया गये हैं. ममेरे भाईयों को मुजफ्फरपुर जंक्शन के बाहर से पकड़ा गया. उनकी निशानदेही पर तीसरे अपराधी को फकुली थाना के मनकौली से गिरफ्तार किया गया.

Advertisement

मुजफ्फरपुर में एके-47 बरामद : गिरफ्तार आरोपियों में मुजफ्फरपुर के जैतपुर थाना के पोखरैरा निवासी विकाश कुमार, वैशाली जिले के हाजीपुर के नगर थाना स्थित अंजानपीर निवासी सत्यम कुमार व मुजफ्फरपुर के फकुली के मंकौली निवासी देवमणि राय उर्फ अनीस शामिल है. विकाश और सत्यम आपस में ममेरे भाई हैं. इसका खुलासा बुधार को एसएसपी राकेश कुमार ने की है. उन्होंने बताया की दूसरे राज्य से हथियार मंगाया जा रहा था. गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई हुई.
पकड़े गए अपराधी में मुखिया का बेटा भी शामिल : प्राप्त जानकारी के अनुसार पकड़े गए अपराधियों में तीसरा अपराधी देवमणि राय के पिता भोला राय वर्तमान में मुजफ्फरपुर के कुढनी के मुखिया हैं. स्थानीय लोग यह भी बताते हैं कि भोला राय एक राजनीतिक पार्टी से भी जुड़े हुए हैं.

Advertisement

पहले एके 47 का बट और लेंस मिला : एसएसपी राकेश कुमार ने बताया कि पिछले तीन महीने से एसटीएफ और जिला पुलिस की टीम इस गिरोह के पीछे पड़ी हुई थी. इसी बीच जानकारी मिली की ये लोग ट्रेन से आ रहे हैं. टीम अलर्ट हो गई थी. जैसे ही विकाश और सत्यम स्टेशन के बाहर पहुंचे, उन्हें दबोच लिया गया. इसके पास एके 47 का बट और लेंस बरामद किया गया. फिर, दोनों को गोपनीय स्थान पर रखकर पूछताछ की गई.

Advertisement

पूछताछ कर तीसरे आरोपी तक पहुंची पुलिस : पूछताछ में दोनों ने बताया कि वे कुढ़नी के मुखिया भोला राय के बेटे अनीश उर्फ देवमणि के पास पार्ट्स लेकर जा रहे हैं, वहां एके 47 रखा हुआ है. सूचना के आधार पर टीम फकुली के मंकौली में छापेमारी करने पहुंची। अनीश को गिरफ्तार किया गया। उसके निशानदेही पर एके 47 बरामद किया गया. वह बिना बट का था. उसे जब जोड़ा गया तो वह बिल्कुल फिट बैठ गया. इसके बाद तीनों को गिरफ्तार किया गया. पुलिस जांच में पता चला कि 7 लाख रुपए में हथियार खरीदा गया है.

Advertisement

”पूछताछ में तीनों ने बताया है कि वे लोग हथियारों की खरीद बिक्री करते हैं. दूसरे राज्यों से हथियार की खेप मंगाते हैं. उनके बताए जगह पर टीम जांच कर रही है. इनके गिरोह से जुड़े अन्य अपराधियों को भी जल्द पकड़ा जाएगा. इनका आपराधिक इतिहास भी निकाला जा रहा है. इन तीनों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. पूछताछ के बाद कोर्ट में पेश कर न्यायिक हिरासत में भेजा जाएगा.”- राकेश कुमार, एसएसपी, मुजफ्फरपुर

Advertisement

दूसरे राज्य से हथियारों की होती है डिलिंग : लंबे अर्से के बाद इस इलाके से बिहार एसटीएफ और जिला पुलिस ने एके-47 बरामद किया है. छोटू राणा गैंग से जुड़े अपराधियों के पास से एके-47 की बरामदगी के बाद पूछताछ में यह इनपुट आ रहा है कि दूसरे राज्य से एके-47 जैसे घातक हथियार की डिलिंग होती है. पुलिस से बचने के लिए यह गैंग हथियार को अलग-अलग पार्ट में कर देता है. ट्रेन व अन्य सवारी से हथियार लाकर एसेंबल कर उसको बेचता है.

Advertisement
Advertisement

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -
- Advertisement -

વિડીયો

- Advertisement -
error: Content is protected !!